5 C
New York
Friday, February 23, 2024

Buy now

Mutual Fund Cut off time : 19 अक्‍टूबर से बदला खरीद-बिक्री का टाइम

Mutual Fund Cut off time : सेक्‍योरिटी एक्‍सचेंज बोर्ड ऑफ इंडिया (SEBI) ने Equity Mutual Fund की यूनिट्स के खरीदने और बेचने के समय में बदलाव किया है।

Advertisement

अब इक्विटी म्‍युचुअल फंड के निवेशक पहले की तरह ही दिन के 3 बजे तक यूनिट्स की खरीद-फरोख्‍त कर सकेंगे।

शेयर बाजार की नियामक संस्‍था (SEBI) के इस कदम से अब निवेशकों को बाजार के खुलने वाले दिनों में Equity Mutual Fund की यूनिट्स को खरीदने-बेचने के लिए ज्‍यादा वक्‍त मिलेगा। बता दें कि म्‍युचुअल फंड इंडस्‍ट्री में यह नया नियम 19 अक्‍टूबर 2020 से लागू हो गया है।

एसोसिएशन ऑफ म्‍युचुअल फंड इन इंडिया (AMFII) के चेयरमैन निलेश शाह ने SEBI के इस ताजातरीन फैसले की जानकारी ट्विटर अकाउंट पर दी। शाह ने बताया कि Equity Mutual Fund के कट ऑफ टाइमिंग में परिवर्तन किया जा रहा है।

बता दें कि AMFII भारत में म्‍युचुअल फंड का नियमन करने वाली एक जानी मानी संस्था है।

Kya hota hai Equity Mutual Fund Cut off time | क्या होता है म्यूचुअल फंड में कट ऑफ टाइम

म्यूचुअल फंड में कट ऑफ टाइम का ये अर्थ होता है कि जिस दिन म्यूचुअल फंड स्कीम की एनएवी तय हो जाएगी उसी आधार पर आपको यूनिट उपलब्‍ध हो जाएंगी।

अगर सोमवार से शुक्रवार तक दोपहर 3 बजे का कट ऑफ टाइम रखा गया है तो 3 बजे तय होने वाले एनएवी उस दिन विशेष की तय हो जाएगी।

अगर आप 3 बजे से पहले यूनिट्स बेचते या रिडीम करते हैं तो आपको उस एनएवी रेट पर भुगतान होगा। वहीं, एनएवी की यही दर खरीद पर भी लागू होगी।

यह भी पढ़ें- म्‍यूचुअल फंड से पैसे कैसे निकालें ?

नये कट ऑफ टाइम का क्या होगा फायदा

पहले सेबी ने Mutual Fund Cut off time दिन के 12 बजकर 30 मिनट तय किया था। इसलिए निवेशकों को इक्विटी म्‍युचुअल फंड की स्‍कीम्‍स में खरीद फरोख्‍त में कम समय मिल पाता था।

Cut off time को दोबारा दिन के 3 बजे तक तय किए जाने से निवेशकों के पास फैसला लेने के लिए ज्‍यादा वक्‍त रहेगा। यहां ये बात समझने की है कि डेट और कंजर्वेटिव हाइब्रिड फंड्स की कुछ कैटेगरी पर Cut off time लागू नहीं होगा। हालांकि यह इक्विटी म्यूचुअल फंड की सभी स्कीम पर लागू होगा।

बता दें कि लिक्विड और ओवरनाइट फंड की खरीदने और बेचने का समय 12.30 बजे और 1 बजे तक का है। वहीं, डेट और कंजरवेटिव हाइब्रिड फंड्स के लिए कट ऑफ टाइम दोपहर 1 बजे ही है।

नई टाइमिंग के बारे में म्‍युचुअल फंड की एएमसी ईमेल के जरिए अपने निवेशकों को सूचित भी कर रही हैं।

यह भी पढ़ें- sip vs one time investment in mutual funds : किसमें है ज्‍यादा रिटर्न?

अगर आपको हमारा ये लेख पसंद आया हो तो कमेंट बॉक्‍स में कमेंट करें। साथ ही हमारे फेसबुक पेज पर जाकर लाइक करने के लिए यहां क्लिक करें।

 

Related Articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

[td_block_social_counter facebook="tagdiv" twitter="tagdivofficial" youtube="tagdiv" style="style8 td-social-boxed td-social-font-icons" tdc_css="eyJhbGwiOnsibWFyZ2luLWJvdHRvbSI6IjM4IiwiZGlzcGxheSI6IiJ9LCJwb3J0cmFpdCI6eyJtYXJnaW4tYm90dG9tIjoiMzAiLCJkaXNwbGF5IjoiIn0sInBvcnRyYWl0X21heF93aWR0aCI6MTAxOCwicG9ydHJhaXRfbWluX3dpZHRoIjo3Njh9" custom_title="Stay Connected" block_template_id="td_block_template_8" f_header_font_family="712" f_header_font_transform="uppercase" f_header_font_weight="500" f_header_font_size="17" border_color="#dd3333"]

Latest Articles

Translate »